Pitra Pitar Pittar

Shri Pitar Ji ki Aarti : श्री पितर जी की आरती

Pitra Pitar shraddh

Shri Pitar Ji ki Aarti :  श्री पितर जी की आरती

Shri Pitar Ji ki Aarti :  श्री पितर जी की आरती

जय जय पितर महाराज, मैं शरण पड़यों हूँ थारी।
शरण पड़यो हूँ थारी बाबा, शरण पड़यो हूँ थारी।।

आप ही रक्षक आप ही दाता, आप ही खेवनहारे।
मैं मूरख हूँ कछु नहिं जाणूं, आप ही हो रखवारे।। जय।।

आप खड़े हैं हरदम हर घड़ी, करने मेरी रखवारी।
हम सब जन हैं शरण आपकी, है ये अरज गुजारी।। जय।।

देश और परदेश सब जगह, आप ही करो सहाई।
काम पड़े पर नाम आपको, लगे बहुत सुखदाई।। जय।।

भक्त सभी हैं शरण आपकी, अपने सहित परिवार।
रक्षा करो आप ही सबकी, रटूँ मैं बारम्बार।। जय।।

Shri Pitra Ji ki Aarti In Hindi:  श्री पितर जी की आरती

जय जय पितर महाराज, मैं शरण पड़यों हूँ थारी ।
शरण पड़यो हूँ थारी बाबा, शरण पड़यो हूँ थारी ।।

आप ही रक्षक आप ही दाता, आप ही खेवनहारे ।
मैं मूरख हूँ कछु नहिं जाणूं, आप ही हो रखवारे ।। जय।।

आप खड़े हैं हरदम हर घड़ी, करने मेरी रखवारी ।
हम सब जन हैं शरण आपकी, है ये अरज गुजारी ।। जय।।

देश और परदेश सब जगह, आप ही करो सहाई ।
काम पड़े पर नाम आपको, लगे बहुत सुखदाई ।। जय।।

भक्त सभी हैं शरण आपकी, अपने सहित परिवार ।
रक्षा करो आप ही सबकी, रटूँ मैं बारम्बार।। जय ।।

जय जय पितर महाराज, मैं शरण पड़यों हूँ थारी ।
शरण पड़यो हूँ थारी बाबा, शरण पड़यो हूँ थारी ।।

Shradh / Pitra Paksha are performed in Remembrance of ancestor by their families. As per hindu calendar the Krishna paksha of Ashvini month is known as shradhh and, each day is dedicated as Tithi (date) of an ancestor on the tithi he/she had passed away.

As per Padma Purana Pushkar is most significant place for performing the rituals of Shraadh for the departed souls to stay in peace and be happy. Lord Rama and Pandwa came here at Pushkar to perform here Shradha ritual for their ancestor.

Find more Aarti with complete lyrics in English and Hindi font with translation Here.

pitar, pitar ji maharaj, pitar chalisa, pitar wiki, pitar ji ki aarti, pitar ji bhajan,  arati shri pitra dev ji ki, pitra dev ji ki arati, pitradev ki arati, pitrudev ki arati, shri pitrudev ji ki arati, आरती श्री पितृ देव जी की, श्री पितृदेव जी की

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s